कोरोना से जितने के बाद च्यवनप्राश और हल्दी दूध पीने को क्यों कहा गया है

कोरोना के केस भारत में तेज़ी से बढ़ रहें हैं, और इससे संक्रमित हुए लोग भी ठीक हो कर उसी तेज़ी से इस बीमारी को हरा रहे हैं। कोरोना से ठीक हो चुके लोगों के लिए केंद्रीय स्वास्थ एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा कुछ प्रोटोकॉल्स तैयार किए गए हैं। इन प्रोटोकॉल को मिनिस्टर ऑफ़ हेल्थ के ट्वीटर अकाउंट पर पोस्ट कर जारी किया गया।

जारी किए गए प्रोटोकॉल्स में यह भी कहा गया है की संक्रमण से ठीक हुए लोगों में खांसी, सांस लेने में परेशानी, बदन दर्द जैसे शिकायतें हो सकती हैं। इसलिए कुछ उपायों का पालन करना जरुरी है, उनलोगों के लिए जो कोरोना जैसी बीमारी से ठीक हो चुके हैं।

इन प्रोटोकॉल्स को मंत्रालय ने चार लेवल में बांटा है जिसे अलग-अलग स्थिति के लिए कोरोना से ठीक हुए लोग अपना सकते हैं। इंडिविजुअल लेवल, कम्युनिटी लेवल, हेल्थकेर फैसिलिटी सेटिंग, इनसब में संकर्मन से ठीक हुए लोगों के लिए उपाए बताए गए हैं। इनमें मास्क पहनने, गरम पानी पीने,आराम करने जैसी सलाह दी गई है।

  1. इन प्रोटोकॉल्स में इंडिविजुअल लेवल पर एक्सरसाइज करने की सलाह दी गई है इनमें योगासन, प्राणायाम, मेडीएशन करने, ब्रीथिंग एक्सरसाइज करने, सुबह शाम टहलने जैसी बातें बताई गई हैं ।
  2. यही नहीं कोरोना से ठीक हुए लोगों को दुसरे अन्य लोगों को इस संक्रमण के प्रति जागरूक करने को कहा गया है।
  3. सोशल मीडिया, कम्युनिटी लीडर्स जैसे माध्यम का उपयोग कर लोगों को जागरूक करने और इस बीमारी के प्रति फैले मिथ को दूर करने की सलाह दी गई है। इस प्रोटोकॉल में मिनिस्ट्री ऑफ़ आयुष द्वारा लोगों से हर सुबह चयांप्रश खाने, दूध में हल्दी डाल कर पिने जैसी सलाह भी दी गई है।

By, Farhat Naz 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here