ह्यूमन कैपिटल इंडेक्स में ऐसा रहा भारत का प्रदर्शन

बीते बुधवार को विश्व बैंक ने ह्युमन कैपिटल इंडेक्स रिपोर्ट जारी किया है ।  रिपोर्ट के अनुसार भारत का स्थान 174 देशों में 116 वां रहा, जबकि पिछले साल भारत को 157 देशों में 115 वां स्थान दिया गया था। हालांकि, भारत का स्कोर बढ़कर 2020 में 0.49 हो गया है जो कि 2018 में 0.44 था।

विश्व बैंक इस रिपोर्ट को तैयार करने के लिए देशों के स्वास्थ और शिक्षा संबंधी आंकड़ों कि स्थिति देखती है। ये आंकड़े मार्च 2020 तक के हैं, इसके बाद पूरे विश्व में कोरोना महामारी का फैलाव तेजी से बढ़ने लगा था जिसके बाद लगभग पूरा विश्व में तालाबंदी हो गई।

रिपोर्ट के विश्लेषण से पता चलता है कि कोरोना महामारी के पहले अधिकांश देशों ने बच्चों की ह्युमन कैपिटल के निर्माण में लगातार प्रगति की और कम आय वाले देशों में भी वृद्धि देखने को मिला। पर इस प्रगति के बाद भी शिक्षा और स्वास्थ्य में एक बच्चा मानव विकास का केवल 56 फीसदी ही हासिल करने की उम्मीद कर सकता है।
विश्व बैंक के समूह अध्यक्ष डेविड मालपास ने चिंता जताते हुए कहा कि कोरोना महामारी ने दशकों के विकास को प्रभावित किया है।
पिछले साल भारत ने ह्युमन कैपिटल इंडेक्स मानव के रिपोर्ट को लेकर विश्व बैंक से कुछ गंभीर सवाल पूछे थे, जिसपर विश्व बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री रोबर्ट गैटी ने कहा कि उनकी टीम ने सभी देशों के साथ मिलकर आंकड़ों की गुणवत्ता पर काम किया है। उन्होंने यह भी बताया कि उनकी टीम ने कुछ देशों के साथ सीधे मिलकर काम किया है और भारत उनमें से एक है। वहीं विश्व बैंक समूह में मानव विकास की उपाध्यक्ष ममता मूर्ति ने कहा कि यह सूचकांक एक आधार देता है जिसके जरिए भारत सरकार मानव पूंजी को प्राथमिकता दे सकती है।

By, Ritu Kumari

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here