दिल्ली का यह स्टेशन भी निजीकरण के लिए जाएगा,देश विदेश के 20 कंपनियों ने खरीदने की इक्षा जतायी

दिल्ली के कनॉट प्लेस के पास स्थित रेलवे स्टेशन के निजीकरण करने का सरकार ने मन बना लिया है। इसे खरीदने के लिए देश विदेश की लगभग 20 कंपनियों ने अपनी इच्छा जताई है। बीते दिन भारत सरकार ने रेलवे के निजीकरण करने के संबंध में एक प्री वीड मीटिंग रखी थी। जिसमें 20 कंपनियों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया था, जिसमें फ्रांस की कंपनी द सोसाइटी नेशनल डेस कैमिन डे फेर फ्रैकेइस (SCNF) जो कि फ्रांस कि सरकारी रेलवे कंपनी है। अरबियन कंस्ट्रक्शन कंपनी, एकोरेज इंफ्रस्ट्रक्चर, अडानी जीएमआर, आई स्क्वाड कैपिटल आदि कंपनियों के नाम शामिल हैं।
बता दे भारत सरकार ने कुछ समय पहले देश की बिगड़ती हुई अर्थ्यवस्था को ठीक करने के लिए रेलवे के निजीकरण करने का फैसला लिया।
हाल हीं में, सरकार ने देश के छह हवाई अड्डों का निजीकरण किया, जिसमें लखनऊ, जयपुर और अहमदाबाद जैसे बड़े शहरों के नाम भी शामिल है।
दिल्ली का यह रेलवे स्टेशन बहुत व्यस्त रेलवे स्टेशन माना जाता है जहां प्रतिदिन करीब 400 ट्रेनें आतीं और जातीं हैं और करीब 4.5 लाख यात्री प्रतिदिन इन ट्रेनों में सफर करते हैं।
रेलवे इस स्टेशन का निजीकरण 60 वषों के लिए करने वाली है, जिसमें 6,500 करोड़ रूपए का निवेश होगा। यह परियोजना करीब 4 वर्षों में तैयार होगी।
इस परियोजना में रेलवे स्टेशन के आस-पास की रेलवे की जमीन भी निजी कंपनी को चली जाएगी।
इस रेलवे स्टेशन को खरीदने के लिए दिग्गज करोबारी गौतम अडानी भी अपनी कंपनी को लेकर सामने आए है। अडानी ग्रुप इसके पहले 6 हवाई अड्डों के संचालन का ठेका ले चुकी है और आशा है की इस परियोजना का भी कॉन्ट्रैक्ट अडानी ग्रुप कोई ही मिलेगी।

By, Ritu Kumari

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here